67th National Film Awards Rajinikanth gets a standing ovation as he receives Dadasaheb Phalke award noddv

[ad_1]

भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (Vice President M. Venkaiah Naidu) ने 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (National Film Awards) का वितरण आज द‍िल्‍ली में क‍िया. द‍िग्‍गज अभिनेता रजनीकांत (Rajinikant) को दादा साहेब पुरस्‍कार से सम्‍मान‍िम क‍िया गया है.  एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangna Ranaut) ने उपराष्ट्रपति के हाथों चौथी बार नेशल फिल्म अवार्ड लिया. उन्हें यह अवार्ड फिल्म ‘मणिकर्णिका: क्वीन ऑफ झांसी’ और ‘पंगा’ के लिए दिया गया है. इसके साथ ही कंगना को तीन बार बेस्ट एक्ट्रेस और एक बार बेस्ट सपोर्टिंग रोल के लिए नेशनल फिल्म अवार्ड मिल चुका है. बॉलीवुड में सबसे ज्यादा बार नेशनल अवार्ड लेने का श्रेय एक्ट्रेस शबाना आजमी को है. उन्हें अबतक पांच बार इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है.

हिन्दी फिल्मों के सबसे  प्रतिभाशाली अभिनेतओं में से एक मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) भी बेस्ट एक्टर का आवर्ड लेने पहुंचे. उन्हें यह अवार्ड फिल्म ‘भोंसले’ के लिए दिया गया है. हांलाकि, इस बार मनोज बाजपेयी को यह अवार्ड साउथ एक्टर धुनष से साझा करना पड़ा है. धनुष को उनकी फिल्म ‘असुरन’ के लिए संयुक्त रुप से बेस्ट एक्टर का नेशनल अवार्ड मिला है.

मनोज बाजपेयी को तीसरी बार नेशनल अवार्ड से सम्मानित किया गया है. इससे पहले फिल्म ‘सत्या’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता और फिल्म ‘पिंजर’ के लिए विशेष ज्यूरी अवार्ड मिला था.

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘छिछोरे’ को बेस्ट फिल्म के  अवार्ड से नवाजा गया. अक्षय कुमार की फिल्म ‘केसरी’ के गाने तेरी मिट्टी के लिए बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का अवार्ड गायक बी. प्राक. ने उपराष्ट्रपति से अपना पुरस्कार ग्रहण किया. साथ ही फिल्म ‘ताशकंद फाइल्स’ के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवार्ड एक्ट्रेस पल्लवी जोशी को दिया गया. साउथ के फेमस एक्टर को भी फिल्म ‘सुपर डीलक्स’ के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में मलयालम फिल्म ‘मरक्कर: लॉयन ऑफ द अरेबियन सी’ को बेस्ट फिल्म का अवार्ड मिला. इस फिल्म में सुपरस्टार मोहनलाल मुख्य भूमिका निभाई है. इसी फिल्म को बेस्ट स्पेशल इफेक्ट का भी अवार्ड दिया गया, वहीं महेश बाबू अभिनीत तेलुगु फिल्म ‘महर्षि’ को बेस्ट कोरियोग्राफी के लिए नेशनल अवार्ड दिया गया. वहीं मलायलम फिल्म ‘जल्लीकट्टू’ को बेस्ट सिनेमैटोग्राफी के लिए नेशनल अवार्ड मिला.

आपको बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन द्वारा 1 जनवरी 2019 से लेकर 31 दिसंबर 2019 तक सर्टिफाइड की गई फिल्मों को पुरस्कार वितरण के लिए एंट्री दी गई थी. पुरस्कारों के लिए लास्ट एंट्री 17 फरवरी 2020 तक रखी गई थी. वैसे 67वें राष्ट्रीय पहले फिल्म पुरस्कारों की घोषणा पहले 3 मई 2020 को होनी थी, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इसे टालना पड़ा था. फिर 22 मार्च 2021 को केंद्रीय सूचना एंव प्रसारण मंत्रालय ने पुरस्कारों का ऐलान किया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



[ad_2]