Anand Shandilyaa to rock with his music in Pratik Gandhi film Bhavai EntPKS


नई दिल्ली. म्यूजिक डायरेक्टर आनंद शांडिल्य (Aanand Shandilyaa) अब प्रतीक गांधी की मोस्ट अवेटेड फिल्म ‘भवई (Bhavai)’ से बड़े पर्दे पर अपने म्यूजिक का जादू बिखेरने जा रहे हैं. इस फिल्म में दिए गए उनके म्यूजिक की बेहद सराहना की जा रही है. बता दें की ‘भवई’ भगवान श्रीराम के जीवन और गाथा से प्रेरित होकर तैयार की गई है. यह फिल्म एक म्यूजिकल और बेहद ही खूबसूरत रूपांतरण है, एक ऐसी गाथा का जिसे हम सब बचपन से सुनते आ रहे हैं.

उन्होंने अपना अनुभव और इस फिल्म में काम करने के निर्णय के विषय पर विस्तार से बात करते हुए बताया कि जब फिल्म के निर्देशक हार्दिक गज्जर और लेखक श्रेयस इस फिल्म के नरेशन के लिए आनंद के पास आए थें, तब उन्हें यह कहानी बेहद खूबसूरत लगी.

आनंद शांडिल्य भगवान श्रीराम को हमेशा से ही एक मार्गदर्शक के रूप में देखते आए हैं और जब उन्होंने यह फिल्म की कहानी सुनी और इसके विषय में जाना की कैसे इसे दर्शाया जाएगा और इसमें संगीत यानी म्यूजिक का एक बेहद बड़ा किरदार होने वाला है. हालांकि शुरुआत में आनंद को यह काम थोड़ा चुनौती से भरा लगा, क्योंकि जिनको वह बचपन से ही मानते आए हैं, उनके विषय में कुछ ऐसा तैयार करना था कि सब बस सुनते ही रह जाएं. तब आनंद ने अपने लिरिसिस्ट कुमार मंजुल, जिन्होंने इस फोक रामायण को बेहद खूबसूरती से लिखा है उनसे बातचीत की और फिर एक ऐसा म्यूजिक निकल कर आया कि उन्हें भी यकीन नहीं हुआ की आखिर कैसे यह इतनी जादुई म्यूजिक का जन्म हुआ, हालांकि जहां भगवान की कृपा और बात हो वहां सुंदरता खुद ही जुड़ जाती है.

आनंद के निजी जिंदगी की बात करें, तो वह एक मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं, बीते साल ही उन्होंने अपने माता पिता दोनो को खो दिया. बस्ती, उत्तर प्रदेश में जन्मे आनंद ने अपना ज्यादातर समय लखनऊ में बिताया है. उन्होंने लखनऊ में स्थित एशिया की सबसे बड़ी संगीत अकादमी भातखंडे म्यूजिक इंस्टीट्यूट से संगीत की तालीम ली. उन्होंने जूलॉजी और केमिस्ट्री से बीएससी किया और कई छात्रों को पढ़ाया भी है, हालांकि बचपन से ही उन्हें संगीत का शौख था और उन्होंने सीखना जारी रखा. महज 18 साल की उम्र में बस्ती छोड़ अपने सपनों पर काम करने के लिए आनंद ने लखनऊ की ओर रुख किया था. उसके बाद उन्होंने सही तालीम हासिल कर मुंबई का सफर तय किया. उनके अंदर मौजूद कंपोजिशन के कीड़े ने उनको बॉलीवुड तक एक नाम और पहचान दिया.

उन्होंने ज़ी के एक इंटर कॉलेजिएट शो द्वारा संगीत कंपोज किया, फिर 2012 में उन्होंने मुंबई में अपना कदम रखा और अपने कंपोज किए हुए गानों को जो उन्होंने लखनऊ में ही तैयार किया था. उसे लेकर उनको विश्वास था की वह एक बार में सभी को पसंद आ जाएगा और वह बेहद जल्द ही एक मुकाम हासिल कर लेंगे. महेश भट्ट के फिल्मों के गानों के अल्फाज आनंद को बेहद पसंद थे और वह मुंबई में आते उनसे मिलना चाहते थे, हालांकि मिलना इतना आसान नहीं था और वह मिल नहीं पाए, फिर स्ट्रगल के दौरान एक ऐसा समय भी आया की उन्होंने सब छोड़कर वापस जाने का फैसला कर लिया था, क्योंकि एक मध्यम वर्गीय परिवार से आने के बाद और पैसे की दिक्कतों का सामना करना उनके इस सपने को थोड़ा मुश्किल बना रहा था.

हालांकि, वापस जाने के समय यानी 2013 में ही उन्हें अचानक से एक टीवी शो के लिए ऑफर मिला, और उन्होंने अपनी पहली कमाई मिली और उन्होंने तुरंत ही रुकने का फैसला किया. आनंद आज के समय में कई टीवी शो में कंपोजर के तौर पर कार्य कर चुके हैं. आनंद ने चंद्रकांता, विघ्नहर्ता गणेश, पेशवा बाजीराव, राधा कृष्ण, इक्यावन, और हाल ही में उन्होंने क्यों उत्थे दिल छोड़ आए के म्यूजिक के लिए काम किया और जी गंगा के तीन शो बंधन टूटे न, श्याम तुलसी और मितवा में एक म्यूजिक डायरेक्टर के तौर पर काम कर रहे हैं. उन्होंने एक गाना भी रिलीज किया था जिसका नाम, इंडिया रिस्पेक्ट चाहता है, इसमें श्रेया घोषाल, शंकर महादेवन, सोनू निगम और शान ने गाना गाया था. उन्होंने दोस्ती जिंदाबाद में भी म्यूजिक कंपोज किया था, जिसमें सुनिधि चौहान और सोनू निगम ने भी गाना गाया था. टी-सीरीज द्वारा एक सोलो सॉन्ग भी रिलीज किया गया था जिसका नाम है, ए काश.

आनंद हर एक युवा को कहना चाहते हैं कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, यह कविता केवल कविता नहीं, बल्कि प्रेरणादायक पंक्तियां हैं, जो आगे बढ़ने में काफी सहायक है और उन्होंने भी इस कविता को एक प्रेरणा का आधार माना है. आने वाली फिल्म के प्रोड्यूसर्स को धन्यवाद करते हुए और सफलता के श्रेय देते हुए आनंद ने कहा कि वह डॉक्टर अमोद कुमार सचान और डॉक्टर रिचा अमोद सचान के शुक्रगुजार हैं. बता दें, आनंद ने फिल्म ‘भवई’ में म्यूजिक व लिरिक्स के साथ पूरे 38 मिनट का एक माहौल सा बांध दिया है, क्योंकि यह एक फोक रामायण है, तो लोग इसे सुनकर मंत्रमुग्ध जरूर हो जाएंगे और आनंद चाहते हैं कि लोग यह फिल्म जरूर देखें, क्योंकि इसकी कहानी और म्यूजिक बेहद ही खूबसूरत है और लोगों को जरूर पसंद आएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.