Hiccups and Hookups review Lara Dutta Prateik Babbbar hilarious web series on dating and relationships noddv

[ad_1]

Hiccups and Hookups Review: वेब की दुनिया में इन दिनों बॉलीवुड के बड़े-बड़े स‍ितारे एंट्री कर रहे हैं. रवीना टंडन, अजय देवगन, माधुरी दीक्षित जैसे स‍ितारों का वेब की दुनिया में कदम रखने का फैंस को इंतजार है. लेकिन इस शुक्रवार बॉलीवुड एक्‍ट्रेस लारा दत्ता (Lara Dutta) औेर प्रतीक बब्‍बर (Prateik Babbbar) को आप उनकी नई वेब सीरीज ‘ह‍िकप्‍स ऐंड हुकअप्‍स’ (Hiccups and Hookups) में जरूर देख सकते हैं. ये 7 एपिसोड की वेब सीरीज आज ही Lionsgate Play (लॉइन्‍‍‍सगेट प्‍ले) पर र‍िलीज हुई है.

कहानी: ये कहानी है बेंगलुरू में रहने वाली 39 साल की स‍िंगल मदर वसुधा राव (लारा दत्ता) की जो अपनी टीनएज बेटी कावन्‍या खट्टर (श‍िनोवा) और छोटे भाई अखिल राव (प्रतीक बब्‍बर) के साथ रहती है. अखिल को कम‍िटमेंट से डर लगता है और वो केजुअल र‍िलेशनश‍िप्‍स में ही भरोसा रखता है. इस सीरीज में इन तीनों की सेक्‍शुअल लाइफ और र‍िलेशनश‍िप्‍स की दुन‍िया को द‍िखाया गया है. पति से धोखा म‍िलने के बाद हाल ही में तलाक ले चुकी वसुधा 39 की उम्र में डेटिंग एप ‘केचअप’ पर आती है. इस ऐप को अखिल ने ही बनाया है. अपने भाई और दोस्‍त फात‍िमा (मीरा चोपड़ा) के उकसाने पर वसुधा केजुअल सेक्‍स के ल‍िए इस डेटिंग एप का इस्‍तेमाल करती है और उसकी ज‍िंदगी में शुरू हो जाते हैं कई सारे एडवेंचर. दूसरी तरफ वसुधा की टीनेज बेटी भी अपनी डेटिंग लाइफ को लेकर कन्‍फ्यूज है और अखिल ज‍िंदगी में अब ठहराव चाहता है. इन्‍हीं सारे र‍िश्‍तों की मजेदार सी कहानी है ये वेब सीरीज.

न‍िर्देशक कुणाल कोहली, जो इससे पहले ‘हम तुम‘ और ‘फनाह’ जैसी द‍िल छूने वाली लव स्‍टोरी ला चुके हैं, इस बार वेब की दुनिया में एक न्‍यू-ऐज फनी ड्रामा लेकर आए हैं. इंटरनेट के कंटेंट पर ज्‍यादा न‍ियम नहीं है, ऐसे में वेब शोज में अशलील भाषा से लेकर जबरदस्‍ती के इंटीमेट सेक्‍स सीन्‍स तक की भरमार आपको खूब देखने को म‍िलती है. लेकिन इस वेब सीरीज की सबसे अच्‍छी बात ये है कि अपने टाइटल में ही ‘हुकअप्‍स’ का ज‍िक्र करने वाली इस सीरीज में जबरदस्‍ती के सेक्‍स सीन नहीं है. बल्कि ज्‍यादातर सीन कहानी की जरूरत और पूरे प्‍लॉट को सपोर्ट करते ही लगते हैं और इसके लिए न‍िर्देशक कुणाल कोहली की तारीफ की जानी चाह‍िए. र‍िलेशनशिप और केजुअल सेक्‍स के इर्द-ग‍िर्द बुनी गई ये कहानी सलीके से इस व‍िषय पर कुछ नया रखती है.

ये वेब सीरीज Lionsgate Play (लॉइनस्‍टेज प्‍ले) पर र‍िलीज हुई है.

दरअसल इस सीरीज के टाइटल में ही है कि ये फैमली ‘नो फिल्‍टर’ है और ऐसा आप शो देखकर भी कह सकते हैं. एक सीन में कावन्‍या अपने बॉयफ्रेंड के साथ घर के कमरे में है और उसके मामा अखिल और मां वसुधा अपनी-अपनी डेट पर घर से बाहर जा रहे हैं. आप इस सीन से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि ये फैमली कितनी मॉर्डन और अलग है. कई मजेदार सीन हैं जो आपको हंसा देंगे.

कहानी की असली जान हैं लारा दत्ता और प्रतीक बब्‍बर के बीच की मजेदार केमिस्‍ट्री और कूल र‍िलेशनशिप. ये दोनों वैसे तो भाई-बहन हैं लेकिन एक-दूसरे के बेस्‍टीज भी हैं. लारा लगभग 40 साल की मॉर्डन लेडी के किरदार में हैं और उनकी परेशान‍ियों से आप काफी र‍िलेट कर पाएंगे. प्रतीक बब्‍बर का भी काम मजेदार है और जब भी लारा-प्रतीक स्‍क्रीन पर नजर आएंगे, आपको मजा जरूर आएगा.

ये एक मॉर्डन-टाइम कॉमेडी ड्रामा है, तो कुछ-कुछ जगह आपको लग सकता है कि ‘ऐसा कहां होता है, ये तो कुछ ज्‍यादा ही मॉर्डन हैं…’. कहानी कुछ जगह एक्‍सपेक्‍टेड हो जाती है. फ‍िर भी ये एक मजेदार कॉमेडी सीरीज है और आपको वीकेंड पर इसे जरूर देखना चाहिए. मेरी तरफ से इस वेब सीरीज को 3.5 स्‍टार.

Tags: Lara Dutta, Prateik Babbbar



[ad_2]