Sanjay dutt and pooja bhatt starrer sadak turns 30 years pr

[ad_1]

महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) की सुपरहिट फिल्म ‘सड़क’ (Sadak) 20 दिसंबर 1991 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में महेश ने सुपरस्टार संजय दत्त (Sanjay Dutt) के साथ अपनी बेटी पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) को कास्ट किया था. इस रोमांटिक थ्रिलर फिल्म में दीपक तिजोरी (Deepak Tijori) , सदाशिव अमरापुरकर (Sadashiv Amrapurkar), नीलिमा अजीम (Neelima Azeem) जैसे दिग्गज कलाकार भी थे. इस फिल्म को सुपरहिट बनाने में स्टारकास्ट की शानदार एक्टिंग के साथ-साथ फिल्म के गानों का बड़ा हाथ था. नदीम-श्रवण की फेमस जोड़ी ने इस फिल्म में संगीत दिया था. ‘हम तेरे बिन कहीं रह नहीं पाते’, ‘तुम्हे अपना बनाने की’, ‘जब जब प्यार पे’ जैसे शानदार गानों से लैस इस फिल्म के 30 साल पूरे होने पर बताते हैं एक दिलचस्प किस्सा.

पूजा भट्ट को महेश भट्ट ने दी थी सलाह

1991 में रिलीज हुई फिल्म ‘सड़क’ ने बॉक्स ऑफिस पर सफलता का शानदार इतिहास रचा था. यूं तो जाने माने फिल्म निर्माता निर्देशक महेश भट्ट और बॉलीवुड एक्ट्रेस पूजा भट्ट को लेकर कई तरह के किस्से सुने-सुनाए जाते हैं. ओपन माइंडेड बाप-बेटी एक दूसरे से हर तरह के मुद्दों पर खुलकर बात करते हैं. एक ऐसा ही किस्सा खुद पूजा ने अपनी फिल्म ‘सड़क’ को लेकर बताया था. ऐसी बात आमतौर पर पिता-पुत्री के बीच नहीं होती है, लेकिन फिल्म में काम करते समय दोनों सिर्फ एक कलाकार और डायरेक्टर के तौर पर नजर आते हैं.

‘सड़क’ के एक सीन में संजय दत्त और पूजा भट्ट. (फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

‘सड़क’  के समय मात्र 18 साल की थीं पूजा भट्ट

दरअसल, उस दौर में संजय दत्त का जलवा था. फैंस ही नहीं फिल्म इंडस्ट्री मे की तमाम एक्ट्रेस उन्हें बेहद पसंद करती थीं. पूजा भट्ट ने बताया था कि संजय दत्त उनके लिए आइकन थे. ‘सड़क’ फिल्म में उनके हीरो ही संजय दत्त थे, ऐसे में एक सीन में किस करने को लेकर 18 साल की पूजा बेहद नर्वस थीं. उन्हें ये लग रहा था कि मैं उस शख्स को किस करने जा रही हूं जिसके पोस्टर मेरे रुम में लगे हुए हैं. उस समय पापा महेश भट्ट ने ऐसी सलाह दी थी जो उन्हें जीवन भर याद है.

किसिंग सीन को लेकर महेश ने बेटी को दी थी सलाह

पूजा ने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि पापा महेश भट्ट मे कहा कि ‘फिल्म में एक्टिंग करते समय हमेशा मासूमियत का ख्याल रखना. अगर तुम वल्गर महसूस करोगी तो वल्गर ही लगेगा, इसलिए किसिंग, लव मेकिंग सीन को मासूमियत और ग्रेसफुल तरीके से देना पड़ेगा. क्योंकि सीन में हम जो दिखाना चाहते हैं वह दर्शकों तक पहुंचना जरूरी है. पापा का दिया ये सबक मुझे जिंदगी भर याद रहा’.

sanjay dutt, sadashiv amrapurkar

सदाशिव अमरापुरकर ने ‘सड़क’ में विलेन का दमदार परफॉर्मेंस दिया था. फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

ये भी पढ़िए-40 Years Of Meri Aawaz Suno: जितेंद्र-हेमा मालिनी की फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ को कर दिया गया था बैन!

सदाशिव अमरापुरकर ने खौफ से भर दिया था

बता दें कि ‘सड़क’ फिल्म में संजय दत्त और पूजा भट्ट ने तो कमाल की एक्टिंग की थी लेकिन सदाशिव अमरापुरकर ने भी फिल्म में विलेन का दमदार परफॉर्मेंस दे सिनेमाघर में बैठे दर्शकों को खौफ से भर दिया था. इस फिल्म की कहानी अमेरिकन फिल्म ‘टैक्सी ड्राइवर’ (Taxi Driver) से ली गई थी. ‘सड़क’  (Sadak) की बंपर सफलता को देखते हुए इसे तमिल में भी ‘अप्पू’ (Appu) नाम से बनाई  गई थी.

Tags: Mahesh bhatt, Pooja bhatt, Sanjay dutt



[ad_2]