Happy Birthday Pawan Singh Life Cotroversy And career in bhojpuri


भोजपुरी गायक आ अभिनेता पवन सिंह आज देश दुनिया में कवनो पहचान के मोहताज नइखन. उनके अब खाली भोजपुरी दर्शक ना बल्कि भारत के दोसरा भाषा के दर्शक वर्ग भी जाने लागल बा. वजह कई गो बा, बाकिर पवन सिंह के प्रसिद्धि पीछे के कई साल से लगातार बढ़ रहल बा अउरी ओहमें उठान जारी बा. आज 5 जनवरी के उनके जन्मदिन ह. जानी उनके जीवन में संघर्ष से सफलता अउरी विवादन से रिश्ता के कथा –

पवन सिंह के जिनगी आ करियर में जेतने सफलता मिलल बा, ओही हिसाब से विवाद से भी उनके नाता रहल बा. इहो कहल जा सकेला कि पवन के जिनगी में सक्सेस आ कंट्रोवर्सी एकही सिक्का के दू गो पहलू बा. कबो हेड आवेला त कबो टेल आ उनका से चोली दामन वाला साथ बनल रहेला. जइसे फिलहाल के बात करीं त पवन सिंह हिन्दी इंडस्ट्री में भी आपन पहुँच बढ़ा रहल बाड़ें अउरी उहाँ के संगीत उद्योग के पवन बिकाऊ स्टार लउक रहल बाड़ें, एही से सभे उनके लपके खातिर कोशिश में लागल बा. जेकर नतीजा बा कि पवन सिंह के कई गो हिन्दी आ हिन्दी भोजपुरी मिक्स गाना डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर रिलीज हो रहल बा. पवन भोजपुरी के सुपरस्टार भी हवें, एहीसे उनके फेस वैल्यू के भी इस्तेमाल म्यूजिक विडिओ में हो रहल बा. कहे के माने संगीत निर्माता लोग खातिर पवन दुनू हाथ में लड्डू वाला कलाकार साबित हो रहल बाड़ें.

एकरा साथहीं विवाद से भी उनकर चोली दामन के साथ बा जइसे कि आजकल सोशल मीडिया पर पवन अउरी खेसारी के बयानबाजी पर चर्चा हो रहल बा. पवन कादो एगो स्टेज शो के दौरान कहलें कि “झमकवला से केहू पवन सिंह ना बन जाई, पवन सिंह बने खातिर दू जनम लेबे के पड़ी.” हालांकि पवन के सुर आ आवाज के मिठास के बात कइल जाव त युवा लोग में उहे अभी सर्वोत्तम बाड़ें बाकिर अगर सम्पूर्ण पैकेज के बात कहल जाव त ई बयान आत्माभिमान में कहल बुझाता. खैर, एकरा जवाब में कई लोग के बयान आवे लागल बा. रितेश पाण्डेय, निरहुआ अउरी मनोज तिवारी के भी बयान आइल बा, सभे आपन आपन बात कह रहल बा. कहे के माने बा कि भोजपुरिया दुनिया में आपुसे माथ – लड़व्वल होला. दोसरा के कुछ कहे के कहाँ मौका दिआला.

खैर, पवन सिंह भोजपुरी संगीत में आपन निमन भा बाउर योगदान त बड़हन देहले बाड़ें. उनके पहिला एल्बम 1997 में रिलीज भइल रहे जब उ 11 साल के रहलें. एल्बम के नाम रहे ‘ओढ़निया वाली’. पवन सिंह के नाम हालांकि 2003 आ 2004 के आस पास से होखे लागल. बाकिर उनके असली सफलता मिलल “कमरिया करे लपा लप लोलीपॉप लागेलू. ई गाना तब भी बहुत हिट भइल रहे आ अब भी खूब चलेला. कहे के माने भोजपुरिया होखे भा दक्षिण भारतीय, ई गाना के बीट्स अउरी रीदम के चलते नाचे के बेरा जरूर ई गाना बजावेला. रउआ अक्सर कवनो फंक्शन, शादी बियाह में ई गाना बाजत सुन सकीलें. ई गाना से पहिले भी उनके कई गो हिट गीत आइल रहे जवन पवन के हिट आ लोकप्रिय बना देहले रहे बाकिर उनके प्रसिद्धि भोजपुरिया पट्टी में ही सीमित रहे. लोलीपॉप उनके दूर ले पहुँचवलस. फेर जब डिजिटल के दौर आइल त सीडी कैसेट के जमाना में रिलीज भइल ई गीत दुबारा से वायरल होखे लागल आ एकर हिन्दी, अंग्रेजी के अलावा कई गो भाषा में कवर सॉन्ग भी बनल.

पवन सिंह के फिल्मन में पदार्पण भइल 2007 के फिल्म ‘रंगली चुनरिया तोहरे नाम’ से. एह फिल्म में पवन सिंह, सुदीप पाण्डेय के साथे सहायक भूमिका में रहलें. एह फिल्म में प्रसिद्ध हिन्दी फिल्म अभिनेता संजय मिश्रा भी काम कइलें. 2008 में पवन सिंह फिल्म ‘भोजपुरिया दरोगा’ में फेर सुदीप पाण्डेय के साथे अइलें. एकरा बाद उनके फिल्म आइल ‘प्रतिज्ञा’. एहमें उनके साथे तब नया नया स्टार बनल गायक निरहुआ भी मुख्य भूमिका में रहलें. ई फिल्म पवन सिंह के स्थापित करे वाला फिल्म रहे. वजह रहे कि ई फिल्म अपना संगीत अउरी प्रेम कथा के चलते सिनेमाघर में खूब चलल. तब भोजपुरी के दौर चलत रहे अउरी पवन के एल्बम के दुनिया में लोकप्रियता त रहबे कइल. एकरा बाद उनके लीड रोल वाला फिल्म मिले लगली सन. मोनालिसा एक साल पहिले ही भोजपुरी में डैब्यू कइले रहली. उनके आ पवन के जोड़ी बनल फिल्म ‘सइयां के साथ मड़इया में’. 2009 के ई फिल्म अच्छा बिजनेस कइलस.

फेर पवन के फिल्मन के बाढ़ आइल चालू भइल. काहें कि उनके तुरंते फिल्मन में नाम भइल रहे, दर्शक उनके चेहरा इयाद करत रहलें. अक्सर भोजपुरी में अइसन होला कि जब कवनो हीरो भा गायक चमकेला त ओकरा फिल्मन भा गीतन के बाढ़ आ जाला, चारु ओर उहे लउकेला. इहे कारण बा कि साग पात कुछु काम कइल चालू करेला आ आपन काम के स्तर गिरा देला. पवन के लगातार आवत सगरी फिल्म सफल ना भइली सन. नगदे फ्लॉप होखल भी चालू कइली सन. कारण रहे कि उनके इंडस्ट्री में पहिले से स्थापित रवि किशन, मनोज तिवारी, निरहुआ से बढ़िया टक्कर मिलत रहे. एही के चलते कुछ फिल्म व्यापार समझे वाला निर्माता निर्देशक पवन के बाकी दोसर हिट स्टार लोग के साथ लिआवल चालू कइल लोग. आ एह तरे दुनू जाना के दर्शक सिनेमाघर में आवे लगलें. बाकिर पवन धीरे धीरे आपन फिल्म ऑडियंस भी बनाइए लेहलें आ समय के साथे फिल्मी अउरी संगीत के करियर आगे बढ़त रहल.

पवन चूंकि अपना आवाज के चलते इंडस्ट्री में अइलें एही से अबले उ संगीत से आपन नाता नइखन तूरले आ अक्सर गीत गावत रहेलें. बाकिर ई बात अलग बा कि ओ में द्विअर्थी शब्दन के भरमार भी मिलेला. अभियो उनके रोमांटिक गीतन के श्रोता हर वर्ग से बाड़ें, उ मास होखे भा क्लास ऑडियंस होखे. पवन सिंह के जन्मदिन पर उनके ढेर सारा शुभकामना!

(लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य व सिनेमा के जानकार हैं.)

Tags: Bhojpuri superstar pawan singh, Pawan singh, Pawan Singh Actor, Pawan singh photos